what is Artificial intelligence in hindi | आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस क्या है हिंदी में

 क्या आप Artificial intelligence के बारे में जानते हैं अगर नही तो ये पोस्ट आपको Artificial Intelligence के बारे मे जानने में हेल्प करेगा। इस पोस्ट में जानेंगे कि ये Artificial Intellingence क्या है, ये Artificial Intellingence का इस्तेमाल कहा किया जाता है, इसके क्या फायदे और नुकसान है। 

what is Artificial intelligence in hindi
what is Artificial intelligence in hindi 

what is Artificial intelligence in hindi | आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस क्या है हिंदी में 

Artificial Intellingence के बारे में आपने कभी न कभी जरूर सुना होगा। आज कल तो हम सभी google, google map, google assistent और Alexa जैसी software के रूप में इसका इस्तेमाल भी कर रहे हैं। इस पूरे ब्रह्मांड में मनुष्य ही ऐसा जीव है जिसे ईश्वर ने दिमाग देने के साथ सही तरीके उपयोग करने की कुशलता दी है।

मनुष्य अपनी दिमाग के कुशलता से आज कहा से कहा पहुंच गया है, अपने इस बुद्धि के बल पर इंसानों ने computer, internet, smartphone, laptop और tablet इत्यादि और भी कई सारे आविष्कार किए हैं। जिसकी वजह से हम मनुष्यों के जिंदगी को एक नई दिशा मिली है।

What is Artificial Intelligence | आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस क्या है

Technology के क्षेत्र में मानव ने इतना विकास कर लिया है कि अब उसी के तरह सोचने समझने और चलता फिरता machine तैयार करने के बारे में सोच रहा है जो बिलकुल इंसानों के तरह क्षमता तक सकता है। उस Advanced Technology से बनने वाले machine को ही Artificial Intellingence कहते हैं।

Artificial Inteligence meaning in hindi: Artificial Intelligence को हिंदी में कृत्रिम बुद्धिमता कहा जाता है। यह कृत्रिम का मतलब है कि किसी व्यक्ति के द्वारा बनाया हुआ और बुद्धिमता का मतलब है सोचने की शक्ति से है।

Artificial Inteligence Computer विज्ञान की एक शाखा है जो ऐसी machine को विकसित कर रही है जो इंसान के तरह सोच सके और काम कर सके। जब हम इस computer को इस तरह तैयार करते हैं कि वह मानुष्य के अक्लमंदी के तरह कार्य कर सके तो उसे Artificial Intelligence कहते हैं। अर्थात किसी machine में इस तरह के programme set करते है कि वह एक मनुष्य के तरह भांति कार्य कर सके उसे Artificial Intelligence कहा जाता है।

ये जो Intelligence की ताकत होती है जो मनुष्य के अंदर अपने आप ही बढ़ती है कुछ देखकर, कुछ सुनकर, कुछ छूकर हम ये सोच सकते है कि उस चीज के साथ कैसा व्यवहार करना चाहिए। ठीक उसी तरह से computer के अंदर भी एक तरह का Intelligence Develope कराया जाता है उसके जरिए ही Computer सारे System तैयार किए जाते हैं जो उन्हीं तर्को के आधार पर चलता है जिनके आधार पर मानव मस्तिष्क काम करता है।

Computer Science के कुछ वैज्ञानिकों ने  एक परिकल्पना दुनिया के सामने रखी थी। जिसमे उन्होंने बताया था कि Artificial Intelligence के द्वारा एक ऐसा computer controled machine या एक ऐसा software बनाने की योजना बनाई जा रही है जो वैसा ही सोच सके जैसा कि इंसान का दिमाग सोचता है।

मानव सोचने Analise करने और याद करने रखने का काम भी अपने दिमाग के जगह पर यंत्र computer से करना चाहता है इसीलिए Artificial Intelligence की प्रगति पर जोड़ दिया जा रहा है। 

Computer Science में Artificial Inteligence को Machine Learning के नाम से जाना जाता है। Machine Learning, Artificial Intelligence का एक हिस्सा है। इस System को अपने अनुभव से सीखने, खुदको Improve करने की क्षमता देता है और इसमें प्राथमिक महत्व computer से खूदसे इंसान के बिना ही सीखने की अनुमति देता है।

Machine Learning Computers Program development पर फोकस करता है जो डाटा कोर एक्सेस कर सके उसमें अपने आप सीख सके। जिस तरह मनुष्य अपने अनुभव से अपनी क्षमता को बेहतर करते हैं ठीक उसी तरह Artificial Intellingence के Program भी है। जिसके जरिए मशीन भी सीखने का कार्य कर सकती है।

आज के समय में Artificial Intelligence और machine learning सबसे ज्यादा python प्रोग्रामिंग का उपयोग किया जा रहा है।

Who started artificial intelligence | आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की शुरुआत किसने की।

जब इंसान computer की असली ताकत का खोज कर रहा था तब मनुष्य के दिमाग में ये सोचने पर मजबूर किया कि क्या एक machine भी इंसानों के तरह सोच सकती है। इसी सोच से Artificial Intelligence की शुरुआत हुई। जिसके पीछे केवल एक ही उद्देश्य था कि एक ऐसा बुद्धिमान मशीन की संरचना तैयार की जाए जो कि इंसानों के तरह ही बुद्धिमान हो और उनके तरह ही सोचने समझने और सीखने की क्षमता रखता हो।

1955 में सबसे पहले John McCarthy Artificial Intelligence शब्द का इस्तेमाल किया था। ये एक अमेरिकन computer scientist थे जिन्होंने सबसे पहले इस Technology के बारे में सन 1956 में एक conference में बताया था। इसीलिए इन्हें father of Artificial Intelligence कहा जाता है। Artificial Intelligence कोई नया विषय नहीं है दशकों से दुनिया भर में इसकी चर्चा होते रही है। matrix, robot, Terminator जैसी फिल्मों का आधार Artificial Intelligence का ही है।

जहा Artificial Intelligence का स्वरूप दिखाया गया कैसे कोई इंसान की तरह सोचता है और काम करता है।

Where is Artificial Intelligence used | आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का उपयोग कहां किया जाता है।

Artificial Intelligence की लोकप्रियता बड़ी ही जोड़ो शोरो से बढ़ती जा रही है और आज ये एक ऐसा मिशन बन गया है जिसकी Technology और Business के क्षेत्रों में काफी चर्चा हो रही है। कई विशेषज्ञों और एनालिस्ट का मानना है आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस या मशीन लर्निंग हमारा भविष्य है। लेकिन हमारे चारों तरफ देखे तो पाएंगे कि यह हमारा भविष्य नहीं बल्कि वर्तमान हैं।

Technology के विकास के साथ आज हम किसी न किसी तरीके से हम Artificial Intelligence से जुड़े हुए हैं और इसका इस्तेमाल भी कर रहे हैं। हाल ही में कई machine learning निवेश किया है। जिसके कारण कई Artificial Inteligence Products और Apps हमारे लिए उपलब्ध हुए तो चलिए आज के समय में उपलब्ध होने वाले कुछ Arrificial Intelligence के उदाहरण देते हैं।

1. आपने एप्पल फोन तो देखा ही होगा इसकी सबसे लोकप्रिय परसनल वर्चुअल असिस्टेंट सिरी के बारे में तो सुना ही होगा। सिरी आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का सबसे बेस्ट उदाहरण है। इससे आप वह सारी चीजें करवा सकते हैं जो पहले आप इंटरनेट पर ट्राई किया करते थे। जैसे मैसेज सेंड करना, इंटरनेट से इंफॉर्मेशन ढूंढना, कोई एप्लीकेशन ओपन करना, टाइमर सेट करना, अलार्म लगाना इत्यादि जैसे सारे काम सिरी से hey siri कहकर करवा सकते हैं। 

सिरी आपके भाषा और आपके सवालों को समझने के लिए machine learning Technology का उपयोग करती है। हालांकि यह सब आईपैड और आईफोन में ही उपलब्ध है। इसी तरह एलेक्सा डिवाइस, विंडोस कोरटाना और एंड्रॉयड फोन की पर्सनल असिस्टेंट गूगल असिस्टेंट है जो कि सीरी की तरह काम करने के लिए उपयोग किए जाते हैं।

2. गूगल अपने कई क्षेत्रों में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का इस्तेमाल करता है। लेकिन गूगल मैप में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस टेक्नोलॉजी का सबसे अच्छा इस्तेमाल हुआ है। गूगल मैप हमारी लोकेशन को ट्रैक करती है हमें सही रास्ता बताने के लिए आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का इस्तेमाल करती है और हमेशा ही रूट बताने में मदद करती है।

3. लोकप्रिय वेबसाइट अमेजॉन ने एक ऐसा रिवॉल्यूशनरी प्रोडक्ट लॉन्च किया है जिसका नाम है Echo यह आपके सारे सवालों का जवाब दे सकता है। आपके लिए ऑडियो बुक पड़ सकता है। आपको ट्रैफिक का हाल और वेदर रिपोर्ट भी बता सकता है। किसी भी सपोर्ट का शेड्यूल और इसको बता सकता है।

4. आर्टिफिशियल का इस्तेमाल सिर्फ स्मार्टफोन में ही नहीं बल्कि ऑटोमोबाइल के क्षेत्र में इसका इस्तेमाल किया जा रहा है। अगर आप कार पसंद करते हैं तो आपको टेस्ला कार की जानकारी जरूर होगी। यह कार अब तक उपलब्ध ऑटोमोबिल में से एक है। टेस्ला कार से जुड़ने के बाद इसमें self-driving जैसे फीचर्स उपलब्ध है। ऐसे ही न जाने और कितनी सेल्फ ड्राइविंग कार बन रही है जो आने वाले समय में और स्मार्ट हो जाएगी।

5. आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का इस्तेमाल मैन्युफैक्चरिंग कंपनी में भी बड़े जोरों शोरों से हो रहा है। पहले जिस काम को करने के लिए सैकड़ों लोग लगते थे वही आज मशीन के वजह से बहुत जल्दी और अच्छा काम किया जा रहा है।

6. हमें वीडियो गेम में भी आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की झलक मिलती है। कई सारे गेम्स को कंप्यूटर में खेलना होता है जैसे चीज और लूडो इन सभी के अलावा आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का इस्तेमाल स्पीच रिकॉग्निशन, रोबोटिक्स, वेदर रिपोर्ट, फाइनेंस और हेल्थ इंडस्ट्री इत्यादि में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का उपयोग हो रहा है।

What are the Advantage of artificial intelligence | आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के क्या फायदे हैं

1. आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस Eror  को कम करने में हमारी मदद करता है और अधिक एक्यूरेसी के साथ सटीकता हासिल करने की संभावना बढ़ जाती है।
2. आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के इस्तेमाल से जल्दी से निर्णय लेने और जल्दी से कार्य करने में सहायता मिलती है।
3. मनुष्य के विपरीत मशीन को लगातार आराम और रिफ्रेशमेंट की आवश्यकता नहीं होती कुल लंबे समय तक काम करने के काबिल होते हैं। यह काम करते हुए ना तो उबत हैं, ना विचलित होते हैं और ना ही थकते हैं।
4. आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के मदद से संचा, रक्षा, स्वास्थ्य, आपदा प्रबंधन, और कृषि के क्षेत्रों में बड़ा बदलाव आ सकता है।

What is the disadvantage of artificial intelligence | कृत्रिम बुद्धि का नुकसान क्या है

1. Artificial intelligence के लाभ कुछ खास नहीं है लेकिन इसके खतरों को लेकर साफ कहा जा सकता है कि आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस आने के बाद सबसे बड़ा नुकसान मनुष्य को ही होगा।
2. आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस मनुष्य के स्थान पर काम करेगी और उनके लिए यह स्वयं निर्णय लेने लगेगी और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस पर नियंत्रण नहीं लिया गया तो इससे खतरा भी उत्पन्न हो सकता है।
3. विशेषज्ञों का कहना है सोचने समझने वाले रोबोट्स किसी कारण किसी स्थिति में मनुष्य को अपना दुश्मन मानने लगे तब मानवता के लिए खतरा पैदा हो सकता है।
4. आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के डिमांड के लिए भारी लागत की आवश्यकता होती है क्योंकि यह बहुत ही कांपलेक्स मशीन होती है। उनके रख-रखाव और देख-रेख के लिए भारी लागत की आवश्यकता होती है।
5. इसमें कोई शक नहीं की आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस कई सारे नौकरियों को छीन रही है जिसमें भविष्य में बेरोजगारी की समस्या और भी बढ़ने वाली है। गूगल के सी ई ओ सुंदर पिचाई का कहना है कि मानवता के फायदे के लिए हमने आग और बिजली का इस्तेमाल करना तो सीख लिया पर इसके बुरे पहलुओं से उभरना जरूरी है। इसी प्रकार आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस ऐसी तकनीक है। 
आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का इस्तेमाल हम अपने फायदे के लिए बहुत से क्षेत्रों में कर रहे हैं। सच यह भी है कि आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के जोखिम से बचने का तरीका हमने नहीं निकाला तो इसके गंभीर परिणाम हो सकते हैं। क्योंकि तमाम लागों के बावजूद आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के अपने खतरे हैं। आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस आने से हमें जो सुविधाएं मिल रही है या आने वाले समय में मनुष्य पर इसका कैसा असर पड़ेगा इसके बारे में आप क्या सोचते हैं इस बारे में अपनी राय कमेंट बॉक्स में जरुर दें।
हमें उम्मीद है कि आपको आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस से संबंधित यह जानकारी पसंद आई होगी अपने दोस्तों के साथ इसे शेयर करें। इसी तरह की और इनफॉर्मैटिक इंफॉर्मेशन के लिए हमें सब्सक्राइब करें।
धन्यवाद
जय हिन्द!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *