What is Data in hindi | डाटा क्या है? पूरी जानकारी हिन्दी में

आज हम बात करने वाले हैं कि डाटा होता क्या है? किसी भी बिजनेस को चलाने के लिए डाटा कितना महत्वपूर्ण होता है। किसी भी इंडस्ट्रीज में डाटा क्या भूमिका निभाता है इसका अंदाजा आप लगा सकते हैं। तो चलिए शुरू करते हैं और जानते हैं कि डाटा होता क्या है।
What is Data in hindi | डाटा क्या है? पूरी जानकारी हिन्दी में
What is Data in hindi | डाटा क्या है? पूरी जानकारी हिन्दी में

Business चाहे किसी भी तरह का हो डाटा की जरूरत सबको होता है। खास बात ये है कि जरूरत के हिसाब से data उपलब्ध भी होता है लेकिन सवाल ये है कि ये डाटा होता क्या है और किसी भी business के लिए ये इतना Important क्यों होता है? इस सवाल का जवाब आपको इस पोस्ट में बताया गया है। इसीलिए आप से अनुरोध है कि इस पोस्ट को पूरा जरूर पढ़ें ताकि आप डाटा से जुड़ी सारी जानकारी प्राप्त करें।

what is Data | डाटा क्या है ?

सामान्य रूप से देखे तो डाटा Character का ऐसा सेट है जो किसी purpose के लिए collect और Translate किया जाता है। डाटा को Collect करने का main reason Analisis करना होता है। Data में कोई भी character Text, Number, Pictures, Sound और video शामिल हो सकते हैं।
जहा तक Computer डाटा की बात है तो ये डाटा ऐसी Information होती है जो Computer के द्वारा Proccess और Store की जाती है ये Text Documents के फॉर्म में भी हो सकता है या फिर images, audio clips, Software Programmes या किसी भी और रूप में हो सकता है।
इस Data को CPU के द्वारा Proccess किया जाता है Computer के harddisk में, file और folder के रूप में Store किया जाता है। Computer Storage में data binary digits में रहता है यानी 1 और 0 के रूप में। Data शब्द लैटिन शब्द से आया है और इसका अर्थ होता है कुछ देना। डाटा एक plural शब्द है इसकी singular रूप Datum होती हैं लेकिन अब ये word इतना चलन में आ गया है कि singular word use के लिए डाटा शब्द को ही इस्तेमाल किया जाने लगा है।
Computer में डाटा input होने से पहले Raw होता है और इस Raw डाटा को computer में Input किया जाता है तब डाटा proccess होता है। इस तरह से Raw डाटा प्रोसेस्ड डाटा तैयार हो जाता है तब उसे Information कहा जाता हैं। Data को Computer में Store करने के लिए Hard Disk का इस्तेमाल किया जाता है। इसके अलावा दूसरी Storage Device का भी use किया जाता है।
Imformation classified और organised data हाेती हैं जिसकी Reciever के लिए कोई value होती हैं। प्रोसेस्ड डाटा यानी Information इतनी यूजफुल हो की उसके बड़े पर decison लिए जा सकें। इसके लिए प्रोसेस्ड data में quality होनी बहुत जरूरी है टाइमली यानी कि Information की जब जरूरत हो तब वो उपलब्ध हो सके।
Accuracy यानी Information Accurate हो, Completeness यानी Information Complete हो।

Types of Data | डाटा के प्रकार

1. Text Data:- Text data में Alphabets आते हैं a to z .

2. Number Data :- number data में संख्या (Number) आती हैं 0 से 9 तक।

3. Alphanumeric Data:- इसमें symble आते हैं जो कि keboard पर होते जैसे @#₹_&  इत्यादि।
4. Image Data:- इसमें jpeg, jpg, png formate में तैयार की गई images आती है
5. Audio-Video Data :- इसमें mp3 mp4, hd जैसे बहुत सी formate में डाटा रहताा है।

What is Data processing | डाटा प्रोसेसिंग क्या है ?

Data processing cycle कैसे काम करता है? Data proccessing का मतलब लागों या machines के द्वारा Data को ज्यादा usefull बनाने और किसी खास purpose के लिए उपयोगी बनाने के लिए, फिर से तैयार करना या एक systematic order में जमाना होता है।
Data proccessing 3 Steps में होती हैं। Input, proccessing और Outout यानी इन तीनो steps से मिलकर के Data cycle पूरा होता है। तो आइए इनके बारे में जानते हैं।
1. Input :- इस step में data को computer में Input किया जाता हैं। डटे Input करने से पहले Collect किया करने के साथ verify भी किया जाता हैं। और उसके बाद computer में Input कर दिया जाता है।
ये डाटा computer में binary form के रूप में होता है यानी कि 01 के रूप में स्टोर रहता है।
2. Processing :- इस Step में Input Data को ज्यादा usefull बनाने के लिए proccess किया जाता है। Data proccessing का काम CPU करता है।
3. Output :- इस step में proccess Data Input के रूप मे प्राप्त होता है। इस output step में input की तुलना में ज्यादा usefull data प्राप्त होता है जिसे Hard Disk में Store भी किया जा सकता है और कभी भी वापस पढ़ा जा सकता है।

Why data processing is required | डेटा प्रोसेसिंग क्यों आवश्यक है ?

आज के समय सारा काम computer से होता है ऐसे में Accadmic, Institution या Commercial use के लिए Privet और personal use के लिए और scintific research के लिए ज्यादा से ज्यादा Data Collect किया जाता हैं। 
इस Collected data को Store करना short और filter करके Analise करना बहुत जरूरी होता है। ताकि जरूरत के अनुसार बेहतर use किया जा सके। इस लिए डाटा proccessing जरूरी होता है। और ये proccess simple होगा या complex इस बात पर depend करता है कि किस आधार पर डाटा collect किया गया है और उससे  किस प्रकार का result Expected है।

Why Data management is necessary | डेटा प्रबंधन क्यों आवश्यक है ?

किसी भी organization के लिए उसका Data One of the Most Important Asset होता है क्योंकि डाटा से ही Information बनती हैं। जो Business से जुड़ी decesion का आधार होता है। अगर data incomlpete, unorganised होता है तो ये डाटा इस Organization के growth में Contribution देता है।
आज कल किसी भी Oraganization के लिए data collection इतने बड़े scale पर होता है कि उसे manually proccess नही किया जा सकता। इसलिए हर company को strong डाटा management system की जरूरत पड़ती हैं।

Data Management Benifit | डेटा प्रबंधन का लाभ 

बात करें data management की फायदे की तो data management company की Productivity बढ़ती है, Security Risk कम हो जाता है, Opretions आसानी से complete हो जाते हैं, data miss होने के chanses बहुत कम हो जाता है।
Company के फायदे से जुड़ी decesion लेना काफी ज्यादा आसान हो जाता है। तो इसके अलावा डाटा की relavent होना भी हर company या organization के लिए जरूरी होता है। तभी customers के साथ बेहतर relation बन पाते है और कंपनी  के benifits के लिए strong stretitgy बनाई जा सकती हैं।
तो दोस्तो ये पोस्ट कैसा लगा comment box में बताए। अपने लोगो के साथ इसे शेयर करें ताकि और लोगो की इसकी जानकारी मिल सके। इसी तरह के information के लिए आप हमे subscribe भी कर सकते हैं।
धन्यवाद
जय हिन्द!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *