What is DNA in hindi | डीएनए क्या हैं? पूरी जानकारी हिन्दी में

 क्या आपने कभी सोचा है कि आखिर ये डीएनए क्या होता है? कहा पाया जाता है? और ये इतना महत्वपूर्ण क्यों होता है? अगर आप इन सारे सवालों के जवाब जानना चाहते हैं तो आपको ये पोस्ट पढ़ना होगा।

What is DNA in hindi | डीएनए क्या हैं? पूरी जानकारी हिन्दी में
What is DNA in hindi | डीएनए क्या हैं? पूरी जानकारी हिन्दी में

आपने डीएनए का नाम तो जरूर सुना होगा और उससे भी ज्यादा आपको। डीएनए टेस्ट के बारे में तो पता ही होगा। आज के इस पोस्ट में डीएनए से जुड़ी खास जानकारियां जानने वाले हैं इसीलिए इस पोस्ट को पूरा जरूर पढ़ें। डीएनए को आसानी से समझ लीजिए। तो चलिए शुरू करते हैं।

What is DNA | डीएनए क्या है ?

हम सभी जानते हैं कि हमारा शरीर कोशिकाओं से मिलकर बना होता है। हमारे शरीर के हर एक कोशिका में डीएनए यानी कि जेनेटिक कोड पाया जाता है। सिर्फ RBC यानी कि Red Blood Cells में डीएनए नहीं होता है। ये डीएनए ही हमे हमारी पहचान देता हैं। 
डीएनए महत्वपूर्ण इसीलिए होता है क्योंकि इसमें हमारे developmet, हमे हमारी Groth, Reproduction और कार्य के लिए निर्देश होते हैं। अधिकांश डीएनए nucleus में पाए जाते हैं जिसे nuclear डीएनए कहा जाता है। डीएनए का एक small portion microchondria में भी पाया जाता है जिसे mitochondrial DNA  कहते हैं। DNA का फूल फॉर्म Deoxyribonucleic Acid होती हैं और ये जैविक अम्ल क्षारों से मिलकर बनता है। 
इंसानों में पाए जाने वाले डीएनए में लगभग थ्री बिलियन bases पाए जाते हैं और डीएनए का लगभग 99 प्रतिशत हर इंसान में similar होता है। डीएनए एक लम्बी जंजीर जैसा दिखने वाला अनु होता है जो के आनुवंशिक विशेषताओं को एंकॉड करता है।
अगर हमारे शरीर में सारे डीएनए को सुलझाया जाए तो ये इतने लंबे होंगे कि सूरज तक पहुंच कर 300 गुणा बार पृथ्वी पर आ सकेंगे। जिन hereditary material हैं जो cell nucleus में पाया जाता है। ये जींस डीएनए के बने होते हैं। डीएनए एक घुमावदार सीढ़ीनुमा आकृति बनाता है और इसे डबल हेलिक्स कहा जाता है।
न्यूक्लियोटाइड्स का डबल standard polymer डीएनए होता है लेकिन सिंगल standard डीएनए भी पाए जाते हैं। हर nucleotides में ये पाए जाते हैं फास्फेट अणु (phosphate molecular) एक सुगर molucule जिसे deoxyribose कहा जाता है।
नाइट्रोजन युक्त क्षार इसमें 4 क्षार पाए जाते हैं Adenine A, Cytosine C, Guanin G और Thiamin T. इन चारों bases का क्रम ही आनुवंशिक कोड बनता है जो जीवन के सभी जरूरी कामों को करने के लिए हमे निर्देश देते हैं। इन bases के क्रम को डीएनए sequance कहा जाता है। इन bases में से Adenin Thiamin के साथ और Guanin, Cytosine के साथ के साथ बोंड बनाता है।
बोंड के साथ ये base phosphate और Pentose Sugar के साथ भी बंधा होता है। इसीलिए नाइट्रोजन base (क्षार) phosphate और pentose sugar के साथ बने डीएनए को न्यूक्लियोटाइड कहा जाता है। डीएनए अपने structure की हूबहू कॉपी बना सकता है यानी डीएनए अपने जैसा नया डीएनए बना सकता है। ये प्रक्रिया cell division के लिए जरूरी भी होती हैं।
अक्सर डीएनए से बना हुआ नया डीएनए 100 प्रतिशत उसके समान ही होता है। लेकिन कभी कभी जब ये नया बना डीएनए पूरी तरह समान नहीं हो पाता है तो बॉडी में harmfull म्यूटेशन पैदा कर सकता है। डीएनए को एक पेनड्राइव भी कह सकते हैं क्योंकि डीएनए की सारी जानकारी अपने अंदर स्टोर करके रखता है। 1 ग्राम डीएनए 700 Terabites की information को स्टोर कर सकता है।

Who is Discovered DNA | डीएनए की खोज किसने की

डीएनए को सबसे पहले जर्मन bio chemist Friedrich Miescher ने 1869 में में observe किया लेकिन बहुत सारे इस importance Researcher का ध्यान अपने तरफ खींच नहीं पाई लेकिन जब 1953 में James Watson, Friencec Crick, Maurice Wilkins और। Rosalind Franklin ने डीएनए का dubble helix structure खोज निकाला तब ये समझा जाने लगा कि ये डीएनए  Biological डीएनए को कैरी कर सकता है। इसके लिए watson, Crick और Wilkins को 1962 में medician का noble prize भी मिला।
डीएनए के मॉडल को watson-Crick modal नाम से भी जाना जाता है।

What is The important works of DNA | डीएनए के महत्वपूर्ण कार्य क्या है ?

डीएनए Replication, Transcription और Genetic information को Transfer करने का महत्वपूर्ण काम करता है।
 Replication डीएनए की नकल करने की प्रक्रिया है जिसमे डीएनए अपनी नकल करके अपने जैसा दूसरा डीएनए बना लेता है। ऐसा होने से शरीर में chromosome की संख्या नियंत्रित रहती हैं और cell भी प्रेरित होता है।
Transcription के जरिए हमारे शरीर में मौजूद RNA का निर्माण करता है। Genetic Information को एक पीढ़ी से दूसरी पीढ़ी में Transfer करना भी डीएनए का बहुत ही महत्वपूर्ण कार्य होता है। आइए जानते है कि डीएनए टेस्ट क्या होता है। जो कि आपने काफी बार सुना होगा।

What is DNA Test | डीएनए टेस्ट क्या है ?

हर इंसान के डीएनए में उसके हेरिटेज की जानकारी होती हैं। डीएनए टेस्ट और Genetics टेस्ट किसी Genetic disorder का पता लगाने जेनेटिक म्यूटेशन का पता लगाने के लिए किया जाता है। बच्चे में माता और पिता दोनों के जींस होते हैं और डीएनए ट्स्ट के जरिए बच्चे के पैरेंट्स का पता लगाया जा सकता है।
डीएनए टेस्ट के मदद से किसी भी क्रिमिनल को पकड़ा जा सकता है। डीएनए एक पीढ़ी से दूसरे पीढ़ी में ट्रांसफर होता है और इस आधार पर डीएनए टेस्टिंग के जरिए ये पता लगाया जा सकता है की आपके आने वाले generations के बालो का रंग, आंखो का रंग कैसा होगा। साथ ही अगले पीढ़ी में कौन कौन सी बीमारियां हो सकती है। इसका पता भी लगाया जा सकता है।
 
डीएनए टेस्ट के मदद से new born baby में genetics disorder का पता लगाया जा सकता है। ताकि समय रहते उसका इलाज किया जा सके। इसके अलावा बच्चे के जन्म से पहले यानी कि pregnancy के दौरान भी जेनेटिक्स डिसऑर्डर का पता लगाया जा सकता है। आजकल तो कुछ नए टेस्ट भी हो रहें हैं डीएनए के जिसमे ये भी पता लगाया जा सकता है कि आपके पूर्वज किस कोने से आए थे। मतलब ओरिजिन कहा से हुआ था।
आपको हमारी ये डीएनए की जानकारी कैसी लगी commenta में जरूर बताएं। आप चाहें तो हमे subscribe भी कर सकते हैं ताकि आपको ऐसी और जानकारी मिल सके। अपने दोस्तों के साथ share करें।
धन्यवाद
जय हिन्द!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *