What is proxy server in hindi | प्रोक्सी सर्वर क्या है? पूरी जानकारी हिन्दी में

 क्या आपको पता है कि proxy server क्या होता है? Proxy server का इस्तेमाल कैसे करते हैं? Pxoxy server के फायदे क्या है? किस तरह से proxy server की सहायता से किसी भी block website को access कैसे कर सकते हैं? इन सभी सवालों के जवाब जानेंगे तो चलिए शुरू करते हैं।

What is proxy server in hindi | प्रोक्सी सर्वर क्या है? पूरी जानकारी हिन्दी में
What is proxy server in hindi | प्रोक्सी सर्वर क्या है? पूरी जानकारी हिन्दी में

सरवर एक ऐसा कंप्यूटर होता है जिसमें इंटरनेट पर मौजूद सभी जानकारी स्टोर होकर रहती है। हम जो भी जानकारी वेब ब्राउज़र से सर्च करते हैं तो वह इंफॉर्मेशन ऐसे ही किसी सर्वर से हमारे डिवाइस तक पहुंचती है। आज के इस पोस्ट में हम ऐसे ही सरवर के बारे में जानने वाले हैं जो दूसरे सरवर से बिल्कुल अलग है।

अक्सर आपने देखा होगा कि कई सारे स्कूल कॉलेज ऑफिस इसमें कई सारे वेबसाइट ब्लॉक कर दी जाती है। और कई सारी वेबसाइट ऐसी भी होती है जिन्हें कई सारे देशों में एक्सेस करने की अनुमति भी नहीं दी जाती। तो ऐसे में इंटरनेट की कम जानकारी होने की वजह से बहुत से लोग इन ब्लॉक की गई वेबसाइट को एक्सेस नहीं कर पाते हैं।

लेकिन कुछ इंटरनेट यूजर ऐसे भी होते हैं जिन्हें पता होता है कि किसी भी ब्लॉग वेबसाइट को एक्सेस कैसे करना है। और यह काम वह बड़े आसानी से कर लेते हैं। असल में यह सारा खेल एक सर्वर का होता है। जिसके मदद से किसी भी वेबसाइट से हम और आप जानकारी पा सकते हैं। इस सरवर का नाम है proxy-server जिसके बारे में है आज हम इस पोस्ट में जानेंगे।और यह प्रोक्सी सर्वर की जानकारी आपके जिंदगी में कभी ना कभी काम जरूर आएगी इसीलिए इस पोस्ट को पूरा जरूर पढ़ें।

What is proxy server | प्रोक्सी सर्वर क्या है ?

प्रोक्सी सर्वर हमारे और इंटरनेट के बीच एक पुल की तरह होता है। जो user को इंटरनेट की जानकारियों के साथ जोड़ता है। Proxy server एक ऐसा computer होता है जो client और internet के बीच मुख्य द्वार के तरह काम करता है। Proxy शब्द का अर्थ होता है किसी दूसरे को प्रस्तुत करना या किसी दूसरे के तरफ से कार्य करना।

Proxy server client के तरफ से Internet को Request भेजता है। और client तक इंफॉर्मेशन को जुटाता है। जानकारी के लिए बता दें की Internet पर हर Computer के लिए एक विशिष्ट Internet Protocol पता यानी कि IP ADDRESS मौजूद होता है।

IP ADDRESS को इस तरह से समझ सकते हैं जैसे आपके घर का एड्रेस होता है। जहां पर आपके नाम के एड्रेस पर कोई कुरियर, लेटर, या फिर पैकेज आपके एड्रेस पर deliver होता है। उसी तरह इंटरनेट से डाटा को आपके डिवाइस तक पहुंचाने के लिए IP ADDRESS का इस्तेमाल किया जाता है।

इस आईपी ऐड्रेस के वजह से इंटरनेट से आपके डिवाइस के लोकेशन का भी पता चल सकता है। बहुत से लोग प्रॉक्सी सर्वर का इस्तेमाल अपने कंप्यूटर के आईपी ऐड्रेस को छुपाने के लिए करते हैं। जब आप अपने इंटरनेट पर ब्राउज़र को सिर्फ करने के लिए उपयोग करते हैं तो आप उस वेबसाइट से सीधे जुड़ जाएंगे जिस पर आप जा रहे हैं।

लेकिन proxy server आपके ओर से अन्य आईपी एड्रेस का इस्तेमाल कर वेबसाइट के साथ संवाद करते हैं और आपके पास महत्वपूर्ण जानकारी पहुंचाते हैं। जैसे आपके डिवाइस कहां आईपी एड्रेस छुप जाता है। इसका मतलब है कि वेबसाइट को कंप्यूटर सिस्टम या अन्य डिवाइस पर देख तो सकते हैं लेकिन वेबसाइट के सर्वर से जुड़ने वाली सरवन सिस्टम कुछ और ही होती है। जिसे प्रॉक्सी सर्वर कहा जाता है।

इस सर्वर के मदद से किसी वेबसाइट को अपने कंप्यूटर से एक्सेस ना करके प्रोक्सी सर्वर के द्वारा एक्सेस कर सकते हैं।

How Does Proxy Server Works | प्रॉक्सी सर्वर कैसे काम करता है ?

Proxy server User और website के बीच के माध्यम का काम करता है। जब User को कोई Information चाहिए होता है तो वह web Browser पर किसी web page या वेबसाइट को Search करता है। User का ये Request Proxy Server से होते हुए website के Server तक पहुंचता है। और फिर website Server Proxy से आए हुए Request के आधार पर contant या file को proxy server तक भेजता है, फिर proxy server से user की device तक भेज दी जाती है।

यानी कि यूजर जब भी कोई रिक्वेस्ट भेजता है तो मैं डायरेक्ट ली वेबसाइट के सर्वर पर नहीं जाती बल्कि सर बस पर जाने से पहले प्रोक्सी सर्वर पर जाती है और वह रिक्वेस्ट प्रोक्स सर्वर से मेन वेब सर्वर तक जाती है। इस तरह वेब सर्वर क्लाइंट को डायरेक्ट डाटा भेजने के बजाय पहले प्रोक्सी सर्वर को डाटा भेजता है। अगर सीधे शब्दों में कहें तो यूजर को डांटा इनडायरेक्ट रूप से इंटरनेट से मिल रहा होता है।

अब आपके मन में यह सवाल आ रहा होगा अगर यूजर डायरेक्ट वेबसाइट से एक्सेस कर सकता है तो यहां पर प्रोक्सी सर्वर का यूज क्यों किया जा रहा है। असल में प्रोक्सी सर्वर का इस्तेमाल ब्लॉक वेबसाइट को खोलने के लिए किया जाता है। साथ में प्रोक्सी सर्वर यूज़र को सिक्योरिटी से जोड़ी सुविधा भी प्रदान करती है।

आमतौर पर प्रोक्सी सर्वर का काम आपकी पहचान को गोपनीय रखते हुए आपके द्वारा मांगे गए जानकारी को आपके सामने प्रदर्शित करना है। तो चलिए इसके बारे में थोड़ा विस्तार से जानते हैं। जैसा कि हमने इस पोस्ट में पहले ही बताया कि इंटरनेट से जुड़े कंप्यूटर का अपना अपना यूनिक आईडी होता है।

जिसके जरिए इंटरनेट को यह पता चल पाता है कि कौन सा कंप्यूटर किस लोकेशन पर स्थित है ताकि सभी डाटा सही कंप्यूटर तक पहुंचाया जा सके। प्रोक्सी सर्वर एक तरह का कंप्यूटर नहीं होता है जिसका खुद का एक आईपी एड्रेस होता है। तो जब भी यूजर को इंटरनेट से इंफॉर्मेशन चाहिए होता है तो उसके लिए यूजर का डिवाइस सबसे पहले प्रोक्सी सर्वर को रिक्वेस्ट भेजता है और प्रोक्सी सर्वर यूजर के रिक्वेस्ट को पुष्ट डेस्टिनेशन सर्वर तक पहुंचा देता है जहां पर डाटा स्टोर रहता है।

यूजर के कंप्यूटर और सर्वर से कोई कनेक्शन नहीं होता है। इसलिए सर्वर को यूजर के डिवाइस का आईपी ऐड्रेस का पता नहीं चल पाता। इससे यूजर की डिवाइस का आईपी एड्रेस छुप जाता है। इस तरह से प्रोक्सी सर्वर सिक्योरिटी की सुविधा प्रदान करता है।

What contributes to accessing the proxy server block website | प्रॉक्सी सर्वर ब्लॉक वेबसाइट को एक्सेस करने में क्या योगदान देता है

किसी किसी देश में या Government Organization में कुछ वेबसाइट को ब्लॉक कर दिया जाता है। आप कितनी भी कोशिश कर ले आप उस blocked website को अपने system में खोल कर नहीं देख सकते। लेकिन आप proxy server का इस्तेमाल करके blocked website को खोलने की कोशिश करेंगे तो आप आसानी उस blocked website को देख सकते हैं।
जब आप किसी blocked website को proxy server के जरिए खोलते हैं तो Internet पर आपका कुछ search करते हैं तो आपके आईपी एड्रेस को छुपा दिया जाता है और उसकी जगह एक ऐसा IP ADDRESS दर्शा दिया जाता है जिस पर वो website blocked ना हो। इस तरह से आप अपने blocked websites को खोल पाते हैं।
अगर आप किसी blocked website को खोलना चाहते हैं तो google पर जाकर free Proxy Server list टाइप करना है और आपको हजारों ऐसी websites मिल जाएंगे जहां से आपको फ्री proxy servers की लिस्ट मिल जाएगी। उनमें से एक proxy server select कर आपको ओपन करके Search box पर blocked website का 
Url type कीजिए और enter पर press करते ही आपका search किया हुआ website open हो जाएगा।
Proxy server के क्या क्या फायदे हैं।

What is Benifits of Proxy Server | प्रॉक्सी के लाभ क्या है ?

1. Proxy server का  caching के लिएइ इस्तेमाल किया जाता है। इसका मतलब है जब कोई user Information को proxy server के जरिए access करता है तो server उस इंफॉर्मेशन को save कर लेता है। ताकि जब कोई दूसरा user उसी इंफॉर्मेशन को Access करता है तो server अपने ऐक में से ही इस इंफॉर्मेशन को दे देता है। इससे एक फायदा होता है कि यूजर की इंफॉर्मेशन access करने की speed बढ़ जाता है।
2. Proxy server Ip address को छुपा देता है इससे user की पहचान Internet से भी छुप जाती है। यदि आप किसी website को अपने computer से directly Access करते हैं तो आपका ip address और कुछ अन्य डिटेल्स Server में पहुंच जाती है। लेकिन प्रोक्सी के मदद से Internet में जो भी system की information जाती है वो proxy server की होती हैं। जिससे user की identity और network दोनों सुरक्षित हो जाते हैं। और इससे उन हैकर्स की खतरा नहीं होता जो आपके system के इंफॉर्मेशन को चुरा लेते हैं।
3. Proxy server के द्वारा blocked website को खोला भी जा सकता है और user के request पर किसी website को ब्लॉक भी किया जा सकता है। अगर user किसी website का इस्तेमाल नहीं करना चाहता है तो वो उसे proxy server के द्वारा block कर सकते हैं। जैसे कि  माता पिता होते है जो चाहते है कि उनके बच्चे Internet पर कुछ ग़लत देखे या सीखे इसीलिए वे proxy server का इस्तेमाल block करने के लिए करते हैं।
4. किसी भी organization के लिए अपने server hack होने और डाटा थेफ्ट होने की खतरा हमेशा बना होता है इस मामले में proxy server काफी हद तक सुरक्षा प्रदान करता है कोई भी organization proxy server के मदद से client और server के बीच हो रही communication को encrypt कर सकती है। जिससे कि कोई थर्ड पार्टी डाटा को read नहीं कर सके। Hackers तो आपके proxy server तक तो पहुंच सकते हैं लेकिन आपके रीयल server जहा पर सारा डाटा store होता है वहां पहुंचने में उन्हें परेशानी का सामना करना पड़ता है।
तो दोस्तो proxy server  से जुड़ी जानकारी आपको पसंद आई होगी आशा करते है कि आप इस पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा शेयर करेंगे। इसी तरह कि और जानकारी के लिए हमे subscribe भी कर सकते हैं। Comment box में बताए कि proxy server से जुड़ी जानकारी आपको कैसी लगी।
धन्यवाद
जय हिन्द!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *