What is Supernova | सुपरनोवा क्या है ?

 Univers में बहुत सी अनोखी घटनाए होती रहती है जिनमे से बहुत सी कम घटनाओं के बारे में हमें पता चलता है और बहुत साडी घटनाएँ अन्तरिक्ष में लगातार चलती रहती है.ऐसी ही एक घटना सुपरनोवा से जुडी है जो की बहुत अनोखी है और intersting भी है.

What is Supernova | सुपरनोवा क्या है ?
What is Supernova | सुपरनोवा क्या है ?

अगर आप space की रहस्यों के बारें में जानने को  Interest रखतें है तो ये आपके लिए फायदेमंद साबित हो सकती है. इसलिए आज की इस पोस्ट में supernova nova से जुड़ी खास और हैरान कर देने वाली जानकारियां लेकर आया है।

What is Supernova | सुपरनोवा क्या है ?

 

Supernova space में होने वाला सबसे बड़ा explosen है यानी कि सबसे बड़ा विस्फोट। इस तरह की विस्फोट किसी तारें में होता है और ये extremely Bright और Super Powerfull होता है। ये explosen ऐसे star में होता है जो बहुत पुराना होता है और अपने आखिरी समय में होता है। ऐसा तारा एक खतरनाक ब्लास्ट के बाद destroy हो जाता है खत्म हो जाता है।

ये विस्फोट बहुत ही खतरनाक होता है और इसके बाद न तो कोई नया तारा बनन शुरू हो जाता है या फिर पुराने तारें में विस्फोट के बाद white डॉट में बदल जाता है। White ड्रॉप एक ऐसा स्टार होता है जो अपने लाइफ के end में होता है। ऐसा star अपने में मौजूद nuclear फ्यूल का पूरा इस्तेमाल कर चुका होता है और earth जितनी size में collaps हो जाता है।

Supernova space के सबसे dengerous घटना माना जाता है क्योंकि इस explosen के समय सबसे ज्यादा रोशनी निकलती है और ये रोशनी इतनी ज्यादा होती है कि पूरे univers की रोशनी को पीछे छोड़ सकती है। इससे निकलने वाली ऊर्जा इतनी ज्यादा होती हैं जितनी सूरज भी अपनी पूरी लाइफ में नहीं दे सकता।

अब तो आप समझ गए होंगे कि supernova explosen कितना bright और dengrous होता होगा। तो क्या milkyway में supernova को आसानी से देखा जाता है ? इसका उत्तर है supernova कई galaxy में देखे जा सकते हैं। लेकिन हमारी galaxy में इसे देखना आसान नहीं होता है। क्योंकि galaxye में मौजूद dust इतनी ज्यादा होती है कि हम clearly explosen नहीं देख पाते हैं।

साल 1604 में Johannes Kepler ने milkyway में last observe Supernova को discover किया था। इसके बाद nasa के chandra telescope ने भी milkyway में supernova को discover किया था।

What is the Reason Of Supernova | सुपरनोवा का कारण क्या है ?

Supernova तब होता जब कोई Star के core या Center में changes होते हैं। ये changes दो तरह के होते हैं और दोनों ही changes supernova के लिए Responsible होते हैं। इन दोनों changes को supernova के दो टाइप कहा जाता है। Supernova के ये दो type कौनसे हैं आइए जानते हैं।

Supernova के फर्स्ट टाइप binary stars system में होता है। Binary start ऐसे दो stars होते है जिनका ऑर्बिट same point पर होता है इन दो stars में से एक star carbon, oxigen, White डॉर्फ का होता है जो दूसरे star का mattle चुरा लेता है ऐसा करने से white डोर्फ stars के अंदर बहुत ज्यादा matter जमा हो जाता है जिसे ये होल्ड नहीं कर पाता और स्टार का explosen हो जाता है। जो कि s supernova के फॉर्म में होता है।

Supernova का सेकंड टाइप सिंगल Star में उत्पन्न होता है। अपनी लाइफ के लास्ट टाइम मे  जब एक star के nueclear फ्यूल खत्म होने लगता है और इसका थोड़ा mass इसके core में पहुंच जाता है तब इस सिंगल star का core इतना heavy हो जाता है कि ये खुदकी gravitational Force को भी हैंडल नहीं कर पाता है। ऐसे में core collaps हो जाते हैं और ये एक खतरनाक explosen s supernova का रूप ले लेता है। Sun भी एक सिंगल star ही है लेकिन इसमें इतना ज्यादा mass नहीं होता कि ये supernova का रूप ले सके।

Why supernova is so important |सुपरनोवा इतना महत्वपूर्ण क्यों है ?

तो बात ऐसी है कि supernova बहुत ही कम टाइम में पूरा हो जाता है। लेकिन ये explosen universe के बारे में बहुत ही Important information देता है। इसलिए scientist इस explosen की स्टडी करते हैं इस explosen से ये पता चलता है कि universe बहुत expendable है और इस ब्लास्ट से ये भी पता चलता है कि universe में elements distribut करने में supernova का बहुत important रोल होता है।

ये elements universe में नए stars, planets forms करते हैं और इससे पता चलता है कि stars universe की factory होते हैं क्योंकि Stars ऐसे chemical को generate करते हैं जो universe में सबकुछ बनाने के लिए जरूरी है। Stars अपने cores पर hydrogen जैसे simple elements को heavier elements में convert करते हैं। तो

तो इस तरह की heavier elements जैसे कार्बन और nitrogen Life के लिए जरूरी elements होते हैं। केवल massive star ही Gold, Silver, और Urenium जैसे heavy elements को बना सकते हैं। ऐसे star supernova explosen के टाइम ये सभी elements Space में Distribut कर देते हैं।

How to see supernova | सुपरनोवा को कैसे देखा जा सकता है ?

सुपरनोवा को देखा तो जा सकता है लेकिन खुली आंखों से नहीं बल्कि Telescope से देखा जा सकता है। Scientist कई तरह के telescope के मदद से Supernova को Study करते हैं। Telescope इस Explosen से निकली visible light को observe करने के लिए use की जाती है।
कुछ telescope के मदद से इस Explosen से निकली x-rays और Gama-Rays के data को Record किया जाता है। Hubble space telescope और chandra telescope observatory से  Supernova की Images को Observe किया गया है। ऐसा नहीं है कि Supernova को telescope से ही देखा जा सकता है क्योंकि 2011 में एक दस साल की Caneda की एक लड़की ने अपने Compueter पर NightSky images देखते Supernova को Discover कर दिया था।
यानी कि Supernova के बारे में सही जानकारी हो और सही equipments हो तो Supernova को देख पाने की Possibility काफी ज्यादा बढ़ जाती है। 

how bright is supernova | Supernova कितना चमकीला होता है ?

Supernova कितने bright होते हैं? इसका अंदाजा आप इस बात से लगा सकते हैं कि ये Explosen अपनी Galaxy में कई दिन और महीनों तक brightness बनाए रख सकते हैं। 

Do supernovae often appear | क्या सुपरनोवा अक्सर दिखाई देता हैं ?

तो इसका जवाब है कि astronomo के अनुसार Supernova अक्सर दिखाई नहीं देते हैं। हमारी Galaxy में तो इन्हे बहुत ही कम देखा जाता है। क्योंकि डस्ट हमारी view को ब्लॉक कर देती हैं। फिर हर century में milkyway जैसी galaxy में दो या तीन Supernova देखी जाती हैं।

MilkyWay से बाहर मौजूद Galaxy में astronomer हर साल कई हजारों Supernova को Observe करते हैं।

तो ये आज के पोस्ट के Supernova की Important information उम्मीद है आपको हमारी ये जानकारी पसंद आई होगी। Comment box में बताए कि आपके मन में space के बारे में जान कैसा लगा। साथ ही इस पोस्ट को अपने दोस्तो को शेयर करें। ऐसे ही और रोचक info के लिए subscribe करें।

धन्यवाद

जय हिन्द!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *